फाइनल मुकाबले में छा गए पठान और युवराज सिंह

रायपुर में खेली गई पहली रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज को इंडियन लेजेंड्स ने जीत लिया है. बीती रात हुए मुकाबले में भारतीय टीम का सामना श्रीलंकन टीम से था. इंडियन लेजेंड्स की तरफ से युवराज सिंह और यूसुफ पठान ने ताबड़तोड़ पारी खेली. जिसकी बदौलत इंडियन लेजेंड्स की टीम ने श्रीलंका के सामने 182 का लक्ष्य रखा. लेकिन श्रीलंकन टीम 20 ओवरों में सिर्फ 167 रन ही बना सकी. और भारतीय टीम ने 14 रन से ये मुकाबला जीत कर इस टूर्नामेंट की चैंपियन बन गई.

मैच में क्या हुआ ?

श्रीलंका के कप्तान तिलकरत्ने दिलशान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया. जल्द ही उनको वीरेंद्र सहवाग के रूप में एक बड़ी सफलता भी हाथ लग गई. सहवाग फाइनल मुकाबले में खास प्रदर्शन नहीं कर सके और 10 रन बनाकर लेफ्ट आर्म स्पिनर रंगना हेराथ की गेंद पर बोल्ड हो गए. 35 के स्कोर पर इंडियन टीम को दूसरा झटका भी लग गया. बद्रीनाथ भी सिर्फ सात रन बनाकर पवेलियन लौट गए दूसरे छोर पर खड़े मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर धीरे धीरे अपनी पारी को आगे बढ़ा रहे थे. नंबर 4 पर बैटिंग करने आए युवराज सिंह ने सचिन का भरपूर साथ निभाया और श्रीलंकन बॉलरों की धुनाई करनी शुरू कर दी. 11वें ओवर में सचिन तेंडुलकर तेज गेंदबाज महरूफ़ की गेंद पर आउट हो गए. सचिन ने फाइनल मुकाबले में 23 गेंदों पर 30 रन की पारी खेली. सचिन के आउट होने के बाद क्रीज पर आए यूसुफ पठान ने आते ही अपने आक्रामक तेवर दिखाने शुरू कर दिए. युवराज और यूसुफ ने मिलकर 85 रन जोड़ दिए. युवराज ने 41 गेंदों पर 60 रन और यूसुफ ने 36 गेंदों पर 62 रन की पारी खेल टीम का स्कोर 180 के पार पहुंचा दिया.

182 रनों का पीछा करने उतरी श्रीलंकन टीम की शुरुआत जोरदार रही. कप्तान दिलशान और सनथ जयसूर्या ने मिलकर सात ओवर में 60 रन जोड़ दिए. लेकिन 21 रन बनाकर दिलशान यूसुफ पठान के शिकार बने. इसके बाद नियमित अंतराल पर विकेट गिरती रही और मैच पर इंडियन टीम ने कब्जा जमा लिया. बल्ले से 62 रन और गेंद से दो विकेट लेने वाले यूसुफ पठान को मैन ऑफ द मैच चुना गया. वहीं इस सीरीज में सबसे ज्यादा 271 रन बनाने वाले बल्लेबाज तिलकरत्ने दिलशान को मैन ऑफ द टूर्नामेंट घोषित किया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here