बिहार मंत्रिमंडल के विस्तार में अब देर नहीं है। कई तरह  के कारण विस्तार अभी तक टल रहा था, लेकिन अब माना जा रहा है कि सारे अवरोध दूर हो गए हैं। सत्तारूढ़ दलों ने तैयारियां भी पूरी कर ली हैं। बस औपचारिक घोषणा का इंतजार है। अगले तीन-चार दिनों में कभी भी घोषणा की जा सकती है। बजट सत्र के पहले वैसे भी मंत्रिमंडल के विस्तार को जरूरी बताया जा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की हरी झंडी के साथ ही राजभवन की ओर से विधिवत रूप से तारीख और समय का एलान कर दिया जाएगा।

आपको बता दें कि पहले यह अटकलें लगाई जा रही थी कि बीजेपी  की ओर से कैबिनेट विस्तार में विलंब है, लेकिन रविवार को पत्रकारों के सवाल के जवाब में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने जो संकेत दिए इससे साफ हो गया। अहम यह है कि इससे पूर्व शनिवार को भी जायसवाल ने बेतिया में पत्रकारों से बातचीत के दौरान यही बात कही थी। 19 फरवरी से बिहार का बजट सत्र घोषित है।

एनडीए सरकार में बनाए जा सकते हैं 21 और मंत्री

विधानसभा के सदस्यों की संख्या 243 है। कुल सदस्य संख्या के 15 फीसद विधायक मंत्री बन सकते हैं। इस लिहाज से बिहार कैबिनेट में मुख्यमंत्री सहित 36 सदस्य शामिल हो सकते हैं। शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी इस्तीफा दे चुके हैं। लिहाजा, कैबिनेट में 21 से अधिक नए सदस्यों के शामिल होने की गुंजाइश शेष है। हालांकि अभी यह कहना मुश्किल है कि किस दल से कितने मंत्री बनाए जाएंगे। एनडीए में भाजपा पहली बार बड़ी पार्टी बन कर उभरी है। इसलिए वह अधिक हिस्सेदारी की मांग भी कर सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here