नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने आरोप लगाया है कि बिहार में अधिकारियों का मन बढ़ा हुआ है। जब एक आईएएस अधिकारी का व्यवहार मेरे साथ ऐसा था तो आम लोगों के साथ कैसा होगा। जायज मांगों के समर्थन में धरना देने वालों को अधिकारी रोक रहे हैं।

पत्रकारों से बातचीत में तेजस्वी ने सुरक्षाकर्मियों और सचिवालय के पुलिसकर्मियों के विवाद पर कहा कि हमारे आवास के बाहर फरियादियों को रोका गया। राज्य के कोने-कोने से लोग हमारे पास फरियादी आते हैं। सरकार जब बात नहीं सुनेगी तो विपक्ष के पास लोग आएंगे ही। लेकिन, बार-बार थाना लोगों को हमारे यहां आने से रोक रहा है। ऐसा लगता है मानो पुलिस मुख्यालय सिर्फ 10 सर्कुलर रोड पर ही पैट्रोलिंग कर रहा है। भले ही वह सड़क पर आम लोगों की सुरक्षा के लिए पैट्रोलिंग नहीं करे। पटना पुलिस ने सभी सुरक्षाकर्मियों की सूची मांगी है।

30 को पंचायतस्तर तक बनेगी मानव श्रृंखला

आगामी 30 जनवरी को दिन के 12 से एक बजे तक बनने वाली मानव श्रृंखला पर तेजस्वी ने कहा कि पंचायतस्तर तक यह श्रृंखला बनेगी। इसके लिए पार्टी के सभी विधायक, सांसद, विधान पार्षद और पार्टी पदाधिकारियों को पत्र भेजा गया है। पार्टी के तमाम नेता 24 जनवरी से ही सात दिनों तक किसान व कृषि क्षेत्र के मजदूरों को प्रेरित कर मानव श्रृंखला में शामिल होने को प्रेरित करेंगे। कहा कि हम मजबूत विपक्ष की भूमिका निभाएंगे। रूपेश प्रकरण पर कहा कि हत्यारों को कौन संरक्षण दे रहा है? मंत्री शीला कुमारी के बयान पर कहा कि मुझे नहीं पता कि उन्होंने क्या कहा है। लेकिन, अपराध का ग्राफ बढ़ा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here