रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने स्वीकार किया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से उनकी मुलाकात हुई थी। उन्हाेंने कहा कि नीतीश जी मेरे बड़े भाई हैं। उनसे मिलने में कोई परहेज नहीं है। राजनीतिक विरोध अपनी जगह है। व्यक्तिगत रूप से जब भी उनको जरूरत होगी, उपेंद्र कुशवाहा उनके साथ खड़ा रहेगा। कहा-नीतीश कुमार से मेरा पुराना रिश्ता है। लंबे समय तक हमनें एक साथ काम किया है।

पिछले दिनों विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने जिस तरह सदन में व्यक्तिगत और अपमानजनक बात की, मुझे बिल्कुल अच्छा नहीं लगा, इसलिए मैंने तेजस्वी की आलोचना की थी। क्या रालोसपा का जदयू के साथ नया संबंध बनेगा? इस सवाल पर हंसते हुए कहा कि आगे देखिए क्या होता है। इधर, रालोसपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश यादव ने उपेंद्र के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी की दुर्गति के लिए उपेंद्र को जिम्मेदार ठहराया। आरोप लगाया कि पार्टी में लोकतंत्र नहीं है।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) से मेरी मुलाकात हुई है और वह मेरे बड़े भाई हैं. उनसे मिलने में कोई परहेज नहीं है. राजनीतिक विरोध अपनी जगह है, लेकिन व्यक्तिगत रूप से जब भी उनको जरूरत होगी, उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) उनके साथ खड़ा रहेगा.आरएलएसपी प्रमुख ने आगे यह भी कहा कि नीतीश कुमार के अंदर क्षमता है. बिहार के विकास में बहुत बड़ा योगदान है और आगे भी हो सकते हैं. परेशानी में रहकर सत्ता को बचाने में पूरी ताकत का इस्तेमाल करते रहते हैं. बिहार का विकास में काम कर पाते और दूसरे कामों में ज्यादा करना पड़ता है.

लव कुश पहले भी थे. अभी भी एक हैं और आने वाले दिन में भी एक रहेगा. बता दें कि सियासी जगत में इस बात की चर्चा जोरों पर है कि जल्द ही उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी आरएलसएसपी भी जेडीयू में अपना विलय करने वाली है. हालांकि, इसको लेकर उन्होंने कई संकेत दिए, लेकिन आधिकारिक रूप से इसका ऐलान नहीं हुआ है.

Source – Daily Bihar

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here