पटना: चुनाव आयोग ने बिहार विधानसभा की 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव को लेकर तारीखों का ऐलान कर दिया है। ये उपचुनाव दरभंगा के कुशेश्वरस्थान और मुंगेर के तारापुर सीट पर होने हैं। निर्वाचन आयोग ने ऐलान करते हुए कहा कि 1 अक्टूबर को नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा, जिसके साथ ही नामांकन की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। नामांकन कराने की आखिरी 8 अक्टूबर तारीख होगी। इसके अलावा 13 अक्टूबर तक उम्मीदवार अपने नाम वापस ले सकते हैं। चुनाव आयोग की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि इन दोनों सीटों के लिए 30 अक्टूबर को वोटिंग होगी, जबकि 2 नवंबर को मतों की गिनती होगी।

बिहार विधानसभा उपचुनाव को लेकर तारीखों के ऐलान के बाद अब लोगों की नजर इस ओर है कि कौन सी पार्टी से कौन उम्मीदवार चुनावी मैदान में होगा। पिछली बार जनता ने जीत का सेहरा मेवालाल चौधरी के सिर बांधा था। यहां बता दें कि पिछले चुनाव में राजद की टिकट पर दिव्य प्रकाश चुनावी मैदान में थी। दिव्य प्रकाश पूर्व केंद्रीय मंत्री जय प्रकाश नारायण यादव की बेटी हैं। वे दूसरे नंबर पर रहीं थीं, उन्हें तकरीबन 7 हजार वोटों से हार मिली थी।

मालूम हो कि कुशेश्वरस्थान से जदयू नेता शशि भूषण हजारी का निधन हो गया था। जिसके बाद से यह सीट खाली है। वहीं, मुंगेर के तारापुर सीट से विधायक मेवालाल चौधरी का भी निधन हो गया है। जिस वजह से यह सीट भी खाली है। कुशेश्वरस्थान और तारापुर सीटें जदयू और राजद दोनों के लिए प्रतिष्ठा का सवाल हैं। इसके अलावा कुशेश्वरस्थान और तारापुर दोनों सीटों पर जदयू का कब्जा भी था। वहीं, तेजस्वी यादव दोनों सीटों पर जीत हासिल करने के लिए अपना पूरा जोर लगा रहे हैं।

राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि दोनों सीटें महागठबंधन के पास आए इसके लिए हम चाहते हैं कि राजद के उम्मीदवार चुनाव लड़ें। कुशेश्‍वरस्‍थान और तारापुर अगर जीत जाते हैं, तो बिहार में हम सरकार बनाने में सफल होंगे। उन्होंने कहा कि यदि हम दोनों सीटों पर जीत दर्ज करते हैं तो तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनने से कोई नहीं रोक सकता है। हालांकि, मृत्युंजय तिवारी ने यह भी कहा कि अंतिम निर्णय महागठबंधन के नेताओं के साथ बैठक के बाद लिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here