बिहार में विधानसभा चुनाव संपन हुए 2 महीने हो गए है, सरकार का गठन भी हो गया है। चुनाव के दौरान किए गए वादे पर भी सरकार कार्य रही है। लेकिन, राजद अभी जीत के करीब पहुंच कर हार जाने के तिस को नहीं भुला पा रही है और राज्य में अपनी सरकार बनाने के लिए हर कोशिश कर रही हैं।आरजेडी की इस उम्मीद को और बल बीजेपी और जेडीयू के बीच “ऑल इस नॉट वेल” की सुगबुगाहट से मिल रही है।

इसी कड़ी में राज्य की सबसे बड़ी पार्टी राजद ने  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को बड़ा ऑफर दिया है. आरजेडी के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधानसभा स्पीकर ने कहा कि अगर नीतीश कुमार तेजस्वी को मुख्यमंत्री बना दें तो उनको 2024 में प्रधानमंत्री के लिए विपक्षी पार्टियां समर्थन कर सकती हैं. आरजेडी के वरिष्ठ नेता द्वारा दिए गए इस बयान यह तो स्पष्ट है कि आरजेडी ने अब तक सरकार में आने की उम्मीद नहीं छोड़ी है, भले ही इसके लिए उसे वापस नीतीश कुमार से हाथ क्यों न मिलाना पड़े.

क्या है पूरा मामला?

दरअसल, नई सरकार गठन को काफी दिन बीत चुका है लेकिन अब तक मंत्री मंडल का विस्तार नहीं हुआ है. वहीं, दूसरी तरफ अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी ने जेडीयू के छह विधायकों को अपने पाले में शामिल कर लिया है. ऐसे में अरुणाचल की सियासी आंच बिहार तक पहुंचने लगी है. ऐसी चर्चा है कि बीजेपी और जेडीयू में सब कुछ ठीक नहीं है. हालांकि, दोनों ही दलों के नेता इस बात को सिरे से नकार रहे हैं और बिहार में एक साथ होने का दम भर रहे हैं.  लेकिन राजद ने इस मुद्दे को पकड़ लिया है और अब वो किसी भी तरह सत्ता में आने की जुगत में लग गयी है.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here