26 नवंबर 2020. दिनभर पंजाब, हरियाणा और दिल्ली की सीमाओं से झड़प वाले वीडियो आते रहे. एक तरफ पुलिस और दूसरी तरफ आंदोलनकारी किसान. बीच में बैरिकेड्स, जिन्हें कभी किसान धकेल कर आगे बढ़ते, तो कभी पुलिस वॉटर कैनन के सहारे किसानों को दो-चार कदम पीछे कर देती. इस ठंड में कई बुज़ुर्ग किसान पानी की बौछारों के बीच आगे बढ़ने की जद्दोज़हद करते दिखे. पंजाब के किसान हरियाणा के रास्ते दिल्ली की तरफ आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन एक दिन पहले ही हरियाणा की सरकार ने पंजाब से लगने वाले सारे बॉर्डर सील कर दिए थे. हरियाणा सरकार की पुख्ता तैयारी थी कि पंजाब के किसानों को आगे नहीं बढ़ने दिया जाए, लेकिन किसान हज़ारों की तादाद में जुटे, पुलिस की तैयारियां कम पड़ गई और हिंसक झड़पों के साथ धीरे-धीरे किसान आगे बढ़ते रहे. पुलिस ने किसानों को तितर-बितर करने के लिए कई बार ठंडे पानी की तेज़ धार चलाई. आंसू गैस के गोले छोड़े, पर किसान पीछे नहीं हटे. किसानों का कहना है कि वे पूरी तैयारी के साथ आए हैं. सुनिए दिल्ली आ रहे किसान संघर्ष समिति के संयोजक मनदीप नथवान को-

https://www.thelallantop.com/embed-direct/?id=c8468c8https://www.youtube.com/subscribe_embed?usegapi=1&channelid=UCx8Z14PpntdaxCt2hakbQLQ&layout=full&theme=dark&count=default&origin=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&gsrc=3p&jsh=m%3B%2F_%2Fscs%2Fapps-static%2F_%2Fjs%2Fk%3Doz.gapi.en_US.sazTpAB7NWc.O%2Fam%3DwQE%2Fd%3D1%2Fct%3Dzgms%2Frs%3DAGLTcCMGRnMhese6OTxesnN0rDvhruAGIg%2Fm%3D__features__#_methods=onPlusOne%2C_ready%2C_close%2C_open%2C_resizeMe%2C_renderstart%2Concircled%2Cdrefresh%2Cerefresh%2Conytevent%2Conload&id=I0_1606512986916&_gfid=I0_1606512986916&parent=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&pfname=&rpctoken=65647435
किसान संघर्ष समिति के संयोजक मनदीप नथवान ने बताया कि वह देर रात को दिल्ली के लिए रवाना हुए थे. लेकिन फतेहाबाद हिसार बॉर्डर पर गांव खारा खेड़ी के पास पुलिस ने नाकेबंदी कर उन्हें रोक लिया. पुलिस उन्हें आगे बढ़ने नहीं दे रही है. उन्होंने कहा,

सैकड़ों ट्रैक्टर ट्रॉलियों का जत्था लेकर हम जा रहे हैं. हम शांतिपूर्ण तरीके से जाना चाहते हैं. सरकार टकराव की स्थिति पैदा न करे. हमारी तरफ से कोई गड़बड़ी नहीं होगी. जहां पुलिस हमें रोकेगी, हम वहीं डेरा लगा देंगे. वहीं गांव बसा देंगे. जब तक लड़ाई जीती नहीं जाती, तब तक वापसी नहीं होगी.

सोशल मीडिया पर एक लिस्ट भी वायरल हो रही है. कहा जा रहा है कि ये लिस्ट उन किसानों के लिए बनाई गई है, जो दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं. किसानों से अपील किया गया है कि वे इस लिस्ट में शामिल चीजों को अपने साथ लेकर आएं. इस लिस्ट में दैनिक उपयोग की जरूरी चीजों का जिक्र है. सोशल मीडिया पर वायरल पंजाबी में लिखी पोस्ट का हिंदी अनुवाद हम आपको बता रहे हैं. इस पोस्ट में लिखा है-

करो शेयर, दिल्ली को घेरने के लिए किसान तैयार हैं, किसान जत्थे इन बातों को ध्यान में रखें

(1) जलरोधी छत, ट्रॉली बनानी हो
(2) ट्रॉली में 12 वोल्ट LED लाइट लगाई हो
(3) पानी वाला कैंपर ट्रॉली में रखा हो
(4) आपके अपने बर्तन
(5) 4/5 गर्म कपड़े पहनें
(6) कोलगेट, ब्रश, साबुन, तेल, तौलिया
(7) रजाई, ताले, कंबल
(৪) आटा, दाल, चीनी, पत्ती, मिर्च, मसाला-नमक, रिफाइंड, प्याज, अचार
(9) पतीले बड़े, कढ़ाई, चाकू, परात, बाल्टियां, रस्सियां, डोलनी, छलनी, कटोरी, ग्लास
(10) आम ज़रूरत की दवाइयां
(11) मुसीबत के समय कहीं जाने के लिए ट्रॉली में मोटरसाइकल रखें
(12) एक फोल्डिंग बेड
(13) सभी के पास झंडा, बैज, ट्रॉली ट्रैक्टर वाला झंडा लेकर आएं
(14) ट्रैक्टर छाते वाले हों, ड्राइवर, ट्रैक्टर ब्रेक, रेडिएटर, इंजन तेल, टायर आदि जांच कर लाएं
(15) एक ट्रॉली पर 2 ड्राइवर होने चाहिए, मेडिकल किट, नशे से परहेज़ करने वाले हों
(16) बरसाती कोट या छाता हो, तो साथ लेके आएं
(17) मोबाइल का चार्जर
https://www.facebook.com/plugins/video.php?height=476&href=https%3A%2F%2Fwww.facebook.com%2Fgalaxybrar%2Fvideos%2F1016634955511762%2F&show_text=true&width=261https://www.youtube.com/subscribe_embed?usegapi=1&channelid=UCx8Z14PpntdaxCt2hakbQLQ&layout=full&theme=dark&count=default&origin=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&gsrc=3p&jsh=m%3B%2F_%2Fscs%2Fapps-static%2F_%2Fjs%2Fk%3Doz.gapi.en_US.sazTpAB7NWc.O%2Fam%3DwQE%2Fd%3D1%2Fct%3Dzgms%2Frs%3DAGLTcCMGRnMhese6OTxesnN0rDvhruAGIg%2Fm%3D__features__#_methods=onPlusOne%2C_ready%2C_close%2C_open%2C_resizeMe%2C_renderstart%2Concircled%2Cdrefresh%2Cerefresh%2Conytevent%2Conload&id=I1_1606512986917&_gfid=I1_1606512986917&parent=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&pfname=&rpctoken=15316542भारतीय किसान यूनियन एकता सिधुपुर पंजाब के प्रधान जगजीत सिंह ने कहा कि हजारों किसान 6 महीने का राशन पानी ले के दिल्ली की ओर कूच कर रहे हैं. लंबी लड़ाई के लिए किसान तैयार हैं. हमें जहां रोका जाएगा, वहीं धरना दे देंगे.https://www.thelallantop.com/embed-direct/?id=9846b98https://www.youtube.com/subscribe_embed?usegapi=1&channelid=UCx8Z14PpntdaxCt2hakbQLQ&layout=full&theme=dark&count=default&origin=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&gsrc=3p&jsh=m%3B%2F_%2Fscs%2Fapps-static%2F_%2Fjs%2Fk%3Doz.gapi.en_US.sazTpAB7NWc.O%2Fam%3DwQE%2Fd%3D1%2Fct%3Dzgms%2Frs%3DAGLTcCMGRnMhese6OTxesnN0rDvhruAGIg%2Fm%3D__features__#_methods=onPlusOne%2C_ready%2C_close%2C_open%2C_resizeMe%2C_renderstart%2Concircled%2Cdrefresh%2Cerefresh%2Conytevent%2Conload&id=I2_1606512986918&_gfid=I2_1606512986918&parent=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&pfname=&rpctoken=33372122पंजाब के फतेहाबाद में रोके गए किसान गुरमीत सिंह ने कहा,हमने सरकार और पुलिस को पहले से ही अल्टिमेटम दिया हुआ था कि 26 और 27 नवंबर को किसान हर हालत में दिल्ली पहुंचेंगे. फिलहाल टोहाना में बैरिकेडिंग को तोड़ दिया गया है और किसान लगातार आगे बढ़ रहे हैं और हर हाल में दिल्ली पहुंचेंगे. जो काले कानून मोदी सरकार ने लागू किया है उन्हें हर हाल में वापस कराके आएंगे.https://www.thelallantop.com/embed-direct/?id=8846b88https://www.youtube.com/subscribe_embed?usegapi=1&channelid=UCx8Z14PpntdaxCt2hakbQLQ&layout=full&theme=dark&count=default&origin=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&gsrc=3p&jsh=m%3B%2F_%2Fscs%2Fapps-static%2F_%2Fjs%2Fk%3Doz.gapi.en_US.sazTpAB7NWc.O%2Fam%3DwQE%2Fd%3D1%2Fct%3Dzgms%2Frs%3DAGLTcCMGRnMhese6OTxesnN0rDvhruAGIg%2Fm%3D__features__#_methods=onPlusOne%2C_ready%2C_close%2C_open%2C_resizeMe%2C_renderstart%2Concircled%2Cdrefresh%2Cerefresh%2Conytevent%2Conload&id=I3_1606512986919&_gfid=I3_1606512986919&parent=https%3A%2F%2Fwww.thelallantop.com&pfname=&rpctoken=16306295
27 नवंबर को भी किसानों को हरियाणा में जगह-जगह रोकने की कोशिश की गई. पानीपत में पानी की बौछारें मारकर और सोनीपत में सड़कों पर मिट्टी और बैरिकेड्स लगाकर रोकने की कोशिश की गई. इसके बावजूद वे लगातार दिल्ली की ओर बढ़ते जा रहे हैं. केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का कहना है कि सरकार किसानों से बातचीत के लिए तैयार है. उन्होंने कहा,पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत सरकार देश भर के किसानों के हित मे काम करने के लिए प्रतिबद्ध है. किसानों की आय दोगुनी करने को लेकर सरकार प्रतिबद्ध है. नए कृषि कानून किसानों के हित में है. 3 दिसंबर को फिर से किसानों को वार्ता के लिए आमंत्रित किया गया है. सभी किसान नेता बातचीत के लिए आमंत्रित हैं. Source – Lallantop

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here