इंडिगो एयरलाइंस के स्टेशन हेड रूपेश सिंह की हत्या आज से 11 दिन पूर्व पटना के पौश इलाके में अज्ञात लोगों द्वारा गोली मार कर दिया गया था। लेकिन 11 दिन के बाद भी बिहार पुलिस और सरकार के द्वारा घटित एसआईटी के हाथ बिल्कुल खाली है और जिस तरह से पटना पुलिस अपने ज़िद्द  पर अड़ी है ऐसे में अगर कभी भी पटना एसएसपी और आईजी का तबादला हो जाए तो कोई आश्चर्य की बात नहीं होंगी । हालाकि फिलहाल पुलिस हत्याकांड की जांच चार बिंदुओं पर कर रही है लेकिन पुलिस को अभी तक कोई पुख्ता  सुराग नहीं मिला है । चार में तीन विंद्युओं के तार पटना के कई वीआईपी से जुड़ते है।

पुलिस इस मामले में सबसे पहले पूर्व में एयरपोर्ट पर हुए पार्किंग विवाद से जोड़ कर देख रही है । इससे पहले भी बिहार पुलिस के डीआईजी ने भी हत्या के पीछे पार्किंग विवाद होने की आशंका जताया था। और इससे yeh अस्पष्ट होता है कि जब डीआईजी ऐसी बात कर रहे है तो कहीं ना कहीं पुलिस के पास कुछ पुख्ता सबूत होंगे लेकिन फिलहाल पुलिस इस केस का हर एंगल से जांच करना चाहती हैं। सूत्रों से मिले जानकारी के अनुसार पता चला है कि पूर्व में पार्किंग को लेकर कई बार रूपेश सिंह का विवाद पार्किंग के थेकोदरों के साथ हुआ था। आपको बता दे यह घटना इतना बढ़ गया था कि रूपेश सिंह ने एयरपोर्ट ऑथिरिटी को पत्र लिखकर पार्किंग स्टैंड का टेंडर रद्द करने का मांग किया था । हालाकि रूपेश सिंह के मांग को ठुकरा दिया गया था।

हालाकि सूत्रों ने बताया है कि अन्य तीन एंगल का जुड़ाव कई वीआईपी लोगों से है ऐसे में पुलिस बस पार्किंग विवाद पर जांच कर रही और मोबाइल लोकेशन और अन्य बड़े जानकारियों के तहत हत्यारों तक पहुंचने की कोशिश में है। लेकिन 11 दिन बाद भी पुलिस के हाथ ख़ाली है और इसपर सवाल उठना भी लाजमी है ऐसे में अगर दो से तीन दिनों के भीतर इस काण्ड का उद्भेधन नहीं तो बिहार पुलिस में बड़ी फैर बदल देखने को मिल सकता है।

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here