प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज 16वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन को संबोधित किया । अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि  देश की नई पीढ़ी भले  ही जड़ से दूर हो गई है, लेकिन उनका जुड़ाव भारत से बढ़ा है। कोरोना काल में देश के लोगो ने बढ़िया कार्य किया हैं। आपको बता दे प्रवासी सम्मलेन का विषय इस बार आत्म निर्भर भारत रखा गया है ।

भारत का लोकतंत्र सबसे जीवंत

अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज  दुनिया गवाह हैं कि जब जब भारत को सवालिया निशाने से देखा गया है तो हर बार भारतीयों ने इसे गलत साबित किया है. जब भारत पराधीन था तो यूरोप में लोग कहते थे कि भारत आजाद नहीं हो सकेगा. लेकिन भारतीयों ने इसे गलत साबित कर दिया. जब भारत आजाद हो गया तो पश्चिम के लोग कहते थे कि इतना गरीब देश एक साथ नहीं रह पाएगा, यहां लोकतंत्र का प्रयोग सफल नहीं हो पाएगा, लेकिन भारत ने इसे भी गलत साबित कर दिया. पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीयों से कहा कि आज भारत का लोकतंत्र सबसे सफल, सबसे जीवंत है. पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत का लोकतंत्र दुनिया में उदाहरण बन गया है.

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि शांति हो या फिर संघर्ष का वक़्त हो, भारतीयों ने डट कर सभी समय का मुक़ाबला किया हैं.औपनिवेशिक चुनौती से लेकर आंतकवाद तक हर मोर्चे पर भारत ने दृढ़ता से कार्य किया है.

भारत के वैक्सीन का सबको इंतजार 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भारत के वैक्सीन का इंतजार सबको है. पीएम ने कहा कि भारत के सामर्थ्य का लाभ सभी को मिलता है, पीएम ने कहा कि देश में ही बने दो वैक्सीन के साथ भारत मानवता के हित में कार्य करने हेतु तैयार है. पीएम ने कहा कि कोविड के समय में भी कई नए टेक स्टार्टअप्स भारत से ही निकल कर आए हैं. भारत ने एक बार फिर अपने सामर्थ्य का परिचय दे दिया.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here