पटना: अगर आप भी बिहार में रहते हैं और बस से सफर करते है, तो ये खबर आपके लिए है। पटना के मीठापुर बस स्टैंड के बारे में तो आप जानते ही होंगे, काफी व्यस्तम बस अड्डा माना जाता है। लेकिन अगर हम ये कहें कि 15 जुलाई से आपको यहां से बसें नहीं मिलेगी तो आपको कैसा लगेगा । लेकिन यह पूरी तरह से सच है। अगर आप राजधानी पटना में रहते हैं और बस के माध्यम से राजधानी पटना से किसी और जिला या किसी और शहरों में जाना चाहते हैं तो आपको अब 15 जुलाई के बाद मीठापुर बस स्टैंड से बस नहीं मिलेगी।

दरअसल आपको बता दें 15 जुलाई से पटना के मीठापुर बस स्टैंड को पूरी तरह बंद कर दिया जाएगा और बैरिया स्थित पाटलिपुत्र बस टर्मिनल में इस बस स्टैंड को शिफ्ट कर दिया जाएगा। नगर विकास एवं आवास विभाग के प्रधान सचिव आनंद किशोर ने बुधवार को इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं। संबंधित पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जरिए एक समीक्षा बैठक कर उन्होंने यह निर्देश दिया है।

उन्होंने मीठापुर बस स्टैंड को पाटलिपुत्र बस टर्मिनल बैरिया में शिफ्ट करने को लेकर कई निर्देश दिए। अधिकारियों के साथ बैठक में प्रधान सचिव ने कहा कि 15 जुलाई से मीठापुर बस स्टैंड को पूरी तरह से बंद करें और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल को पूर्णतया संचालित करें।

आगे उन्होंने कहा कि पटना शहर राजधानी होने के साथ-साथ प्रतिष्ठित अध्ययन केंद्र भी है. यहां आर्थिक गतिविधियों के साथ-साथ मेडिकल सुविधाएँ भी हैं. राज्य के विभिन्न जिलों से बस के माध्यम से भारी संख्या में लोगों का आना-जाना लगा रहता है. अंतरराज्यीय बस टर्मिनल, पटना से पिछले वर्ष से बसों का संचालन किया जा रहा है, लेकिन वर्तमान में कुछ जिलों की ही बसें चल रही है। इसलिए 15 जुलाई तक मीठापुर बस स्टैंड पूरी तरह बंद करने और पाटलिपुत्र बस टर्मिनल को शुरू करने का निर्देश दिया है।

इतना ही नहीं, आगे उन्होंने पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता को निर्देश देते हुए कहा कि वे 15 जुलाई से पूर्व जीरो माइल से पाटलिपुत्र बस टर्मिनल के संपर्क पथ के चौड़ीकरण का कार्य पूर्ण कर लें और बस टर्मिनल के निकट पुलिया का निर्माण 20 जून तक कर लें।

प्रधान सचिव आनंद किशोर ने पदाधिकारियों से कहा कि 15 जून से नालंदा, नवादा, शेखपुरा व जमुई की यात्री बसें पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से संचालित करने के लिए सभी आवश्यक कार्रवाई पूरी कर लें। इसी प्रकार धीरे-धीरे 15 जुलाई से सभी जिलों की बसों को संचालित करने का प्लान बना लें।

इस बैठक में मौजूद पटना के जिलाधिकारी चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन पाटलिपुत्र बस टर्मिनल से सभी बसों का संचालन करने के लिए पूरी तरह तैयार है। उन्होंने स्वयं पाटलिपुत्र बस टर्मिनल और मीठापुर के वर्तमान बस स्टैंड का निरीक्षण किया है।

पाटलिपुत्र बस स्टैंड की खासियत क्या है?

इस बस स्टैंड को 25 एकड़ में बनाया गया है और यहां से करीब 3 हजार बसों को चलाने का लक्ष्य है इसके साथ-साथ यहां से एक लाख पैसेंजर रोजाना सफर कर सकते हैं इस बस टर्मिनल में 2 किलोमीटर लंबा सड़क बनाया गया है जिसके जरिए सफर और भी आसान होगा वही यह एक बस स्टैंड होने के साथ-साथ इसके अंदर होटल मॉल सिनेमा हॉल एयर कंडीशन शॉपिंग कंपलेक्स आदि की व्यवस्था होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here