लालू प्रसाद ने एनडीए की सरकार गिराने और महागठबंधन के स्पीकर के लिए वोट देने के लिए बीजेपी के साथ-साथ जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी और उनके नेताओं को कॉल किया था, लेकिन दोनों नेताओं से इस बात को छिपायी. जब बीजेपी नेता सुशील मोदी ने इसका खुलासा किया तो अब दोनों नेता भी सामने आए और स्वीकार कर रहे हैं कि उनके पास भी लालू प्रसाद का कॉल आया था. लेकिन सवाल उठ रहा है कि पहले जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी ने इसका खुलासा क्यों नहीं किया. आखिर उनके मन में क्या चल रहा था.

मांझी बोले- आया था लालू का कॉल

जीतन राम मांझी आज दावा किया है कि लालू प्रसाद ने कई बार हमारे लोगों को कॉल किया था और कहा था कि मांझी जी से बात करा दीजिए. लेकिन हमने बात नहीं किया. उनका गलत काम करने की नियती रही है. लेकिन मांझी देर से इस बात का खुलासा क्यों कर रहे हैं.

मुकेश सहनी ने भी कहा- आया था कॉल

जीतन राम मांझी के बाद मुकेश सहनी ने भी खुलासा किया कि उनके पास भी लालू प्रसाद का कॉल आया था, लेकिन दोनों के बीच क्या बात हुई उसके बारे में बताने से सहनी ने इनकार किया. सहनी ने कहा कि समय आएगा तो इसका जवाब दिया जाएगा. फिलहाल मुझ पर नीतीश कुमार ने भरोसा जताते हुए मंत्री बनाया हैं. उस जिम्मेवारी को मैं निभाने में जुटा हूं. 

लालू का ऑडियो वायरल

लालू प्रसाद ने कल बीजेपी विधायक ललन पासवान को सीधे कॉल किया और कहा कि ‘’जीत के लिए पासवान जी बधाई, इस पर विधायक ने प्रणाम किया. उसके बाद लालू प्रसाद बोल रहे हैं कि सुनो हमलोग तुमको आगे बढ़ाएंगे. कल जो स्पीकर का चुनाव है उसमें साथ दो. कल हमलोग इसको गिरा देंगे. तुम साथ दो. इस पर विधायक कहते हैं कि हम तो पार्टी में हैं सर. इस पर लालू प्रसाद कहते हैं कि तुम गैर हाजिर हो जाओ, बोल देना की कोरोना हुआ है. इसके बाद तो स्पीकर हमारा होगा तो हम देख ही लेंगे.’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here