बिहार में शराब बंदी के बावजूद भी बिहार में नक़ली शराब के सेवन से मरने वालो की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। अवैध शराब के मामले में नीतीश कुमार के मंत्री मुकेश साहनी के बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी है। नीतीश कुमार के मंत्री मुकेश साहनी बिहार में शराब बंदी को असफल मानते है हालाकि उन्होंने यह भी कहा है कि शराबबंदी को सफल बनाने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है।

शराबबंदी से 7 हज़ार करोड़ का सालाना नुकसान

बिहार सरकार के मंत्री सह वीआईपी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश साहनी बिहार में 7 हजार करोड रुपए का सालाना नुकसान शराबबंदी कानून की वजह से है लेकिन उसके बावजूद सरकार ने अगर इसे लागू रखा है तो लोगों को भी यह बात समझनी चाहिए। लोगों के बीच  जागरूकता की जरूरत बताते हुए मुकेश सहनी ने कहा कि अगर शराब से जुड़ा कोई मामला सामने आता है तो उसका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर दें। उसके बाद देखिए कैसे दोषियों पर कार्रवाई होती है।

आपको बता दें कि इन दिनों बिहार सरकार के मंत्री मुकेश साहनी गया के दौरे पर है । गया में ही  मीडिया से बात करते हुए मुकेश साहनी ने रोजगार के मुद्दे पर कहा कि उनका विभाग युवाओं को रोजगार देने के लिए तत्पर है वहीं जब कुछ पत्रकारों ने लालू यादव के जमानत पर सवाल किया तो मुकेश साहनी ने कहा कि संविधान अपना काम करती है और अगर किसी को कोई सजा मिली है तो सजा पूरी करने के बाद वह वापस जेल से बाहर आ सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here