चिराग़ पासवान के नेतृत्व वाली लोजपा में बहुत बड़ी टूट हुई है। पूर्व प्रवक्ता केशव सिंह की अगुआई में लगभग 200 से अधिक नेताओं ने आज जदयू प्रदेश कार्यालय में प्रदेश अध्यक्ष की मौजूदगी में लोजपा का दामन छोड़ जदयू का दामन थाम लिया है। इस बड़ी टूट के बाद लोजपा नेता ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जेडीयू को बिहार बिहारी फ़र्स्ट मुहिम के ग़द्दार मुबारक हो, हमारी पार्टी समुद्र मंथन के दौर में है और एलजेपी से निकाले गए लोग अब जेडीयू में चले गए.।

पार्टी में टूट के बाद बयान जारी

लोक जनशक्ति पार्टी में आज हुए बड़े टूट के बाद पार्टी की तरफ से एक बयान जारी किया गया है। लोजपा ने बताया कि बीते बिहार विधान सभा चुनाव 2020 में लोक जनशक्ति पार्टी ने अकेले चुनाव लड़ने का फ़ैसला लिया और यह सभी कमजोर और ग़द्दार नेता भाग खड़े हुए, इन ग़द्दार ने खड़े हुए, इन ग़द्दार नेताओं ने बिहार फ़र्स्ट बिहारी फ़र्स्ट से ग़द्दारी कर बीते चुनाव में जेडीयू के प्रत्याशीयों का साथ दिया, लेकिन जनता ने जेडीयू को पूरी तरह से नकार दिया था।

हालाकि इससे पहले जदयू में शामिल होने के बाद केशव सिंह ने लोजपा प्रमुख चिराग़ पासवान पर बहुत बड़ा हमला करते हुए कहा था कि लोजपा प्रमुख चिराग़ पासवान अहंकार में डूब चुके है । पार्टी के सांसद हो या फिर विधायक हो चिराग़ पासवान किसी को तब्बजो नहीं देते है। केशव सिंह ने चिराग़ पासवान को घोटालों का सरदार बताया और कहा कि आने वाले दिनों में चिराग़ पासवान द्वारा किए गए हर काले कारनामों का उजागर करने का काम करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here