एनडीए के घटक दलों के संबंधों पर लगातार बेबाक होकर बोलने वाले लालू परिवार ने जदयू में हुए नेतृत्व परिवर्तन पर मौन साध लिया है। आरसीपी सिंह को जदयू के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने पर अभी तक ना तो लालू प्रसाद यादव की तरफ से कोई प्रतिक्रिया अाई है और नाही प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने इस मुद्दे पर कोई बयान जारी किया है। लालू यादव परिवार के अन्य लोगों ने भी इस बात पर मौन साध रखी हैं।

राजनीतिक उठापटक पर सबसे पहले आती थी प्रतिक्रिया

बिहार में किसी भी तरह के राजनीतिक उठा पथक के बाद बिहार में सबसे पहली प्रतिक्रिया लालू यादव के परिवार वालों के तरफ से ही आती थी, बिहार में सत्तारूढ़ दल जदयू में राष्ट्रीय स्तर पर इतना बड़ा बदलाव हुआ है, लेकिन इस पर लालू यादव के परिवार वालों ने कुछ बोलना जरूरत नहीं समझा हैं।

इन सब बातों के बीच राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने जदयू में हुए परिवर्तन पर अपनी बातें जरूर रखा हैं। हालाकि इन सब बयान के बावजूद राजद नेता के बयानों में सामंजस्य नहीं है। इससे यह कहना मुश्किल हो रहा है कि जदयू में हुए परिवर्तन के बाद राजद की रणनीति क्या है?

शिवानंद ने नीतीश कुमार को बताया बुद्धिमान

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने ट्वीट कर नीतीश कुमार को बुद्धिमान बताया है भाजपा के प्रति आगाह भी किया है। शिवानंद तिवारी ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नीतीश कुमार को बीजेपी की मंशा पहले ही समझ लेने की जरूरत थी, लेकिन नीतीश कुमार बीजेपी की मंशा को समझ नहीं सके और महागठबंधन का साथ छोर बीजेपी के साथ चले गए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here