आरा – भारत के पूर्व राष्ट्रपति ज्ञानी जैल सिंह के शहादत समृति में आरा रेखा साह के मंदिर परिसर में उनके तैल चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि प्रदान की गई। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता अरुण गुप्ता ने किया। इस मौके पर शहर के कई नेता व सामाजिक कार्यकर्ता मौजूद थे, तत्पश्चात विश्वकर्मा और वैश्य बंधुओं के राजनीतिक उपेक्षा को देखते हुए एक राजनीतिक दल बनाने का निर्णय लिया गया था। जिसके अंतर्गत  सर्वसम्मति से जन स्वाभिमान पार्टी का नाम दिया गया तथा पार्टी के संस्थापक राज किशोर शर्मा को राष्ट्रीय अध्यक्ष, अमीरचंद शर्मा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, कुंदन शर्मा को राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया साथ ही औऱ कई लोगों को पदाधिकारी बनाये गये। उक्त अवसर पर बैठक को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष राज किशोर शर्मा ने कहा यह पार्टी शोषित व उपेक्षित वर्ग को संगठित कर उनके अधिकार की लड़ाई के साथ अधिकार से बंचित बर्ग को अधिकार दिलाने का काम करेगी तथा देश के हर हिस्से में बढ़ाया जाएगा तथा बेरोजगारी को अपना मुद्दा बनाएगी और बिहार सहित देश के अन्य हिस्सों में इसका जनाधार बढ़ाने का काम करेगी। वही उपाध्यक्ष ने कहा अगले साल आरा में पार्टी का बड़ा सम्मेलन होगा महासचिव कुंदन शर्मा ने समस्त बंचित बर्ग को एकजुट होने पर बल दिया।

मंच संचालन रामनारायण शर्मा तथा धन्यवाद राजेन्द्र गुप्ता ने किया। जिसमें  प्रेमचंद प्रसाद, अविनाश शर्मा, रजनीश शर्मा,  बिजय शर्मा, नर्वदेश्वर शर्मा, उमेश शर्मा, सुबास शर्मा, वीरेन्द्र रजक, कौशल शर्मा,  डॉक्टर रमेश चन्द्र भूषण, हरि गुप्ता, रामनारायण शर्मा, अनिल शर्मा, त्रिलोकि शर्मा, शिवशंकर शर्मा, हरिशंकर शर्मा, त्रिभुवन शर्मा, पिंटू शर्मा तथा अन्य लोग शामिल थे।

रामा शंकर प्रसाद
ब्यूरो
बिहार/झारखंड

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here