मोदी सरकार के 3 कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के किसान इस वक्त सड़कों पर उतरे हुए हैं. दिल्ली चलो का नारा लगाते हुए राजधानी की ओर बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. पुलिस प्रशासन उन्हें रोकने के लिए जी जान लगाए हुए है. हजारों की संख्या में पुलिसकर्मी और सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं. रास्तों पर भारी बैरिकेडिंग की गई है.

अंबाला में तो किसानों पर वॉटर कैनन का भी इस्तेमाल किया गया. इसके बावजूद पंजाब से चलकर आए दर्जनों ट्रैक्टर हरियाणा में प्रवेश कर चुके हैं. सोनीपत-पानीपत-हलदाना बॉर्डर पर भी किसान जुटे हुए हैं. बैरिकेड्स लगाकर उन्हें रोका गया है. यही हाल दिल्ली की सीमाओं का भी है. दिल्ली में ऐहतियातन मेट्रो की सेवाएं नजदीकी शहरों से रोक दी गई हैं. किसानों के इस आंदोलन को तस्वीरों की नज़र से यहां देखिए.

Kisan 33
किसानों को रोकने के लिए दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर सीमेंट के बैरिकेड लगाकर सुरक्षाबल तैनात किए गए हैं. (फोटो- PTI)
Kisan 55
अंबाला की तस्वीर. यहां किसानों को वॉटर कैनन के जरिए रोकने की कोशिश की गई. पुलिस ने बैरिकेड्स भी लगा रखे थे. (फोटो- ANI)
Kisan 77 (1)
ये तस्वीर हरियाणा के शंभू बॉर्डर की है. रास्ता रोकने के लिए लगे बैरिकेड्स को भीड़ ने उठाकर पुल से नीचे फेंक दिया. (फोटो- ANI)
Kisan 22
किसान 25 नवंबर की रात और 26 की सुबह निकले. थक गए तो हाईवे पर ही खाना खाने लगे. तस्वीर करनाल की है. (फोटो- PTI)
Kisan 66
राजधानी दिल्ली की सीमाएं इस तरह बड़े-बड़े पत्थर रखकर, बैरिकेड्स लगाकर सील कर दी गई हैं. (फोटो- PTI)
अंबाला के पास हरियाणा-पंजाब सीमा पर बने शंभू बोर्डर पर आंसू गैस से खुद को बचाता प्रदर्शनकारी. (तस्वीर-PTI, 26 नवंबर 2020)
अंबाला के पास हरियाणा-पंजाब सीमा पर बने शंभू बोर्डर पर आंसू गैस से खुद को बचाता प्रदर्शनकारी. (तस्वीर-PTI, 26 नवंबर 2020)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here