मंगलवार को जारी वर्ल्ड एयर क्वालिटी रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2019 के मुकाबले 2020 में दिल्ली के प्रदूषण में गिरावट हुई है लेकिन दिल्ली दुनिया का सबसे प्रदूषित राजधानी है।

रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली की वायु गुणवत्ता 2019 से 2020 की तुलना में 15 फीसदी की कमी आयी है। वहीं 2020 में भारत के शहरों की वायु गुणवत्ता में 63 फीसद का सुधार देखा गया।

देशों, राजधानियों तथा शहरों की रैंकिंग पीएम 2.5 के आधार पर किया गया है जिसमे सर्वाधिक प्रदूषित देशों में बांग्लादेश, पाकिस्तान और भारत है वहीं सर्वाधिक प्रदूषित राजधानियों में दिल्ली,ढाका और उलानबटोर है
भारत में होने वाले प्रदूषण के मुख्य स्रोतों में यातायात, रसोई के लिए बायोगैस का इस्तेमाल, बिजली उत्पादन, उद्योग निर्माण, कचरा जलाना और सालाना पराली जलाना बताया गया है। भारत के तेजी से बढ़ते पीएम 2.5 के उत्सर्जन के कारणों में यातायात का एक बड़ा योगदान है।

विश्व के 30 सर्वाधक प्रदूषित शहरों की सूची में भारत के 22 शहर शामिल हैं। इसमें गाजियाबाद, बुलंदशहर, बिसरख, भिवाड़ी, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, कानपुर, लखनऊ, दिल्ली, फरीदाबाद, मेरठ, जींद, हिसार, आगरा, बहावलपुर, मुजफ्फरनगर, फतेहाबाद, बंधवाड़ी, गुरुग्राम, यमुनानगर रोहतक, मुजफ्फरपुर शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here