मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने  प्रोजेक्ट ‘लोहिया पथ चक्र’ परियोजना का किया निरीक्षण

पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में बन रहे देश के पहले पथ चक्र यानी लोहिया पथ चक्र का निरीक्षण किया। निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि यह पथ चक्र 2021 के दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस पथ चक्र के बन जाने के बाद किसी को भी ट्रैफिक जाम का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि इसके पूरे होने के बाद इसे बिहार के अन्य जिलों में भी इंप्लीमेंट किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पटना का लोहिया पथ चक्र का निर्माण पूरा होने के बाद दूसरे राज्य के लोग इसे देखने आ सकते हैं और अपने राज्यों में इस तरह का पथ चक्र का निर्माण करा सकते हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि पटना में ट्रैफिक की बढ़ती समस्या को देखते हुए लोहिया पथ चक्र का निर्माण कराया जा रहा है। इससे कुल 49 रास्ते शहर के अलग-अलग जगहों पर जाएंगे. लोहिया पथ चक्र बन जाने के बाद ट्रैफिक सुगम हो जाएगा और लोगों को आने-जाने के लिए अलग-अलग रास्ते चुनने की आजादी होगी। सिर्फ एक रास्ता ही कहीं जाने के लिए नहीं होगा, बल्कि जिसे जिस रास्ते से जाना है वह उस रास्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं. इससे ट्रैफिक जाम की समस्या भी नही होगी.। लोहिया पथ चक्र के 49 एंट्री और एक्जिट प्वाइंट है., पुनाईचक से राजधानी वाटिका की ओर नीचे से आने-जाने की व्यवस्था रहेगी. इसी प्रकार हड़ताली मोड़ पर बोरिंग कैनाल रोड से दरोगा प्रसाद राय पथ तक आने-जाने की व्यवस्था सड़क के नीचे से रहेगी और मुख्य सड़क पर ऊपर से भी आवागमन जारी रहेगा।

सीएम ने लोहिया पथ चक्र के साथ-साथ इनकम टैक्स चौराहा, कोतवाली और करबिगहिया पुल और स्टेशन के पास बन रहे पुलों का भी जायजा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here