लोक जनशक्ति पार्टी के 208 कथित नेताओं के पार्टी छोड़ जदयू ज्वाइन करने के बाद पहली बार पटना पहुंचे लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने पटना एयरपोर्ट से बाहर निकलते हुए मीडिया से बात किया और कहा कि बिहार में नीतीश कुमार की तानाशाही नहीं चलेगी। लोजपा अपने सिद्धांत पर चलती है ना कि लोजपा को चलाने के लिए बिहार के सीएम नीतीश की जरूरत है। लोजपा सब दिन से गरीबों और अति पिछड़ों की पार्टी है और रहेगी। नीतीश के चाहने से लोजपा कभी ख़तम नहीं होगी।

आरसीपी सिंह के फेरे में नीतीश खत्म हो जायेंगे

चिराग पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार के चाहने से लोजपा तो समाप्त नहीं होगी लेकिन जेडीयू और नीतीश कुमार जरूर खत्म हो जायेंगे. नीतीश कुमार ने आरसीपी सिंह को पार्टी का अध्यक्ष बनाया है. उनके राष्ट्रीय अध्यक्ष अपनी ही पार्टी से फर्जीवाड़ा कर रहे हैं. लोजपा के जिन नेताओं को जेडीयू में शामिल कराने का दावा किया गया वे कभी लोजपा में थे ही नहीं. जो पहले से ही जेडीयू में थे उन्हें लोजपा का नेता बता दिया गया. जो रालोसपा में थे उन्हें भी लोजपा का नेता बताया गया. कई नाबालिग लोगों को लोजपा नेता बताकर जेडीयू में शामिल कराया गया. ऐसे फर्जीवाड़ा करने वाले अध्यक्ष अपनी पार्टी के साथ साथ नीतीश कुमार को भी समाप्त कर देंगे.

चिराग ने कहा कि उन्होंने सोंच समझ कर संघर्ष का रास्ता चुना है. उन्हें विधानसभा चुनाव में 15 सीटें मिल रही थीं. 10-12 विधायक जीत कर आते और दो-तीन मंत्री होते. पार्टी आराम से राज कर रही होती. लेकिन उन्होंने नीतीश कुमार के कुशासन के खिलाफ संघर्ष का रास्ता चुना. इस रास्ते से वे पीछे हटने वाले नहीं हैं. वे जनता को हो रही परेशानियों को उठाते रहेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here