पटना: बिहार में बीजेपी के लिए विभीषण बन चुके टुन्ना जी पांडेय पर आखिरकार पार्टी द्वारा बड़ा एक्शन ले लिया गया है। अभी-अभी मिली जानकारी के अनुसार सीएम नीतीश को जेल भिजवाने वाले टुन्ना जी पांडेय को बीजेपी ने पार्टी से निलंबित कर दिया हैं। आपको बता दें कि टुन्ना जी पांडे को निलंबित करने का फैसला खुद पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने लिया हैं। साथ ही उन्होंने इस संबंध में आदेश पत्र भी जारी कर दिया है।

दरअसल पिछले कुछ दिनों से बिहार के राजनीति में चर्चा का विषय बनने वाले टुन्ना जी पांडेय अपने बड़बोले बयानों के कारण खबर में लगातार आ रहे थे। आपको बता दें कि बुधवार को टुन्ना जी पांडेय ने सीएम नीतीश के खिलाफ बयान देते हुए कहा था कि “नीतीश कुमार साल 2009 के शराब घोटालेबाज हैं। ऐसे में मैं बहुत जल्द उन्हें जेल भिजवाऊंगा।” उन्होंने कहा कि शहाबुद्दीन ने पहले ही कहा था कि नीतीश कुमार परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं। अब मैं भी इस बात को दोहराता हूं।

तो वहीं कई लोगों का कहना है कि ये मामला उससे भी पहले का है। दरअसल टुन्ना जी पाण्डेय पर ट्रेन में सफ़र के दौरान छेड़खानी का आरोप लगा था। ये मामला जुलाई 2016 का हैं। इस मामले में उन्हें जेल भेज दिया गया था। जहां उन्होंने पुलिस के बड़े अधिकारी पर साजिश का आरोप लगाया था। माना जा रहा है कि तब से ही टुन्ना जी पाण्डेय सीएम नीतीश और बीजेपी के पटना लॉबी वाले नेताओं से नाराज रहते हैं। इसीलिए वो बार-बार पार्टी लाइन से हटकर बयान देते रहते हैं। उनके दिए बयानों ने कई बार पार्टी के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी है।

इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए डॉक्टर संजय जयसवाल ने निलंबित पत्र जारी कर लिखा कि टून्ना जी पांडे द्वारा पार्टी के अनुशासन के विरुद्ध बयान दिए जाने के कारण भाजपा अनुशासन समिति के अध्यक्ष विनय सिंह ने कारण बताओ नोटिस जारी किया था। इसके बावजूद आपने पार्टी लाइन के विरुद्ध पुनः एक बयान देकर यह सिद्ध कर दिया कि आप अपने को पार्टी के दिशा निर्देश से ऊपर मानते हैं। अतः आप को तत्काल प्रभाव से पार्टी से निलंबित किया जाता है।

ऐसे में बीजेपी बिहार के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल द्वारा उठाया गया ये कदम दर्शाता है कि बिहार में भले ही बीजेपी को सबसे ज्यादा सिटें मिली है लेकिन आज भी सीएम नीतीश का ही कद सबसे उचां हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here