बिहार की राजधानी पटना में हाईप्रोफाइल मर्डर केस इंडिगो के स्टेशन मैनेजर रूपेश सिंह हत्याकांड को लेकर बिहार पुलिस का सिरदर्द बढ़ता ही जा रहा है। अबतक की जांच व छापेमारी में पुलिस के हाथ खाली हैं। ऐसे में पुलिस मैनेजर के मोबाइल की कॉल डिटेल में मिले संदिग्ध नंबरों की नये सिरे से जांच कर रही है। शक के आधार पर इन नंबरों के उपभोक्ताओं से भी पूछताछ की जा रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक  एसआईटी ने रूपेश सिंह के मोबाइल फोन का कॉल डिटेल्स निकाला हैं और कई संदिग्धों की पहचान कर उनसे लगातार पूछताछ की जा रही है। शनिवार को भी दो लोगों से पूछताछ की गयी। हालांकि उन दोनों से भी कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगा है, जिससे एसआइटी अपराधियों तक पहुंच सके

परिजनों का नहीं मिल रहा सहयोग

खास बात यह है कि इस मामले में परिजन भी पुलिस को कुछ जानकारी नहीं दे पा रहे हैं। टेंडर, आपसी विवाद, पार्किंग विवाद को एसआइटी पूरी तरह खंगाल चुकी है, लेकिन अपराधी अभी भी एसआईटी की पकड़ से दूर है। एसआईटी द्वारा प्रतिदिन करीब आधा दर्जन लोगों से पूछताछ कर रही है।

फरार शूटरों व लाइनर की तलाश में एसआईटी पटना, जहानाबाद, गोपालगंज, वैशाली, छपरा में भी छापेमारी कर लौट चुकी है। वहीं इस हत्याकांड का खुलासा कब होगा, शूटर व लाइनर कब तक पकड़े जाएंगे, पुलिस का कोई अधिकारी कुछ बता पाने की स्थिति में नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here