बिहार के बक्सर प्रशासन के कारवाई से बिहार की राजनीति गरमा गई है। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बेहद करीब रहने वाले चुनावी रणनीतिकार और पूर्व जदयू नेता के घर पर कल स्थानीय प्रशासन ने बुलडोजर चलवा दिया । यह प्रशांत किशोर का पुश्तैनी घर था, जिसे पीके के पिता ने बनवाया था। इसी के साथ घर के ब्रह्म स्‍थान को भी तोड़ दिया गया है। प्रशासन ने इस कार्रवाई के बाद खाली हुई जमीन कब्‍जे में ले ली है। इस बारे में फिलहाल प्रशांत किशोर की कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है।

अब तक मिली जानकारी  के अनुसार एनएच-84 को फोर लेन बनाए जाने के लिए आजकल जमीन अधिग्रहण की कार्रवाई चल रही है। इसी क्रम में प्रसिद्ध चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के पुश्‍तैनी घर का कुछ हिस्‍सा अधिग्रहित किया गया है। शुक्रवार को बुल्‍डोजर के साथ पहुंचे अधिकारियों-कर्मचारियों ने प्रशांत किशोर के घर की चहारदीवारी और ब्रह्म स्‍थान को ध्‍वस्‍त करा दिया।

एनआरसी पर मतभेद के बाद नीतीश से हुए थे अलग 
प्रशांत किशोर कभी सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीब माने जाते थे। वह उनके चुनावी रणनीतिकार माने जाते थे। सीएम नीतीश ने उन्‍हें जद यू में राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष बनाया था। उन्‍हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा भी दिया गया था। लेकिन बाद में एनआरसी के मुद्दे पर हुए मतभेद के चलते वह जद यू से अलग हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here