आज देश, भारत – पाक युद्ध 1971 की 50वींवर्षगांठ मना रहा है। आज ही के दिन यानी 16 दिसम्बर 1971 को पाकिस्तानी सेना के भारतीय सैनिकों के सामने समर्पण के बाद भारत ने पाकिस्तान पर विजय प्राप्त की थी। और एक नए देश के रूप में बांग्लादेश का उदय हुआ था।
इस मौके पर प्रधानमंत्री श्री मोदी ने दिल्ली के राष्ट्रीय स्मारक पर शहीदों को पुष्पचक्र अर्पित कर के श्रद्धांजलि दी। फिर श्री मोदी ने स्वर्णिम विजय मशाल प्रज्ज्वलित किया, जिसे परमवीर चक्र और महावीर चक्र विजेताओं के गांव में ले जाया जाएगा। इस मौके पर रक्षामन्त्री श्री राजनाथ सिंह, प्रमुख सेनाध्यक्ष जनरल विपिन रावत, और तीनों सेनाओं के प्रमुख भी उपस्थित रहे। वहीं राजधानी दिल्ली में कार्यक्रम स्थल पर फ्लाई पास्ट का भी आयोजन किया गया।
इस अवसर पर दिल्ली के शहीद स्मारक के अमर जवान ज्योति से 4 विजय मशाल को जलाया गया, जिसे देश के हर कोने में ले जाया जाएगा। गौरतलब हो कि भारतीय सेना ने पूर्वी पाकिस्तान और पश्चिमी पाकिस्तान ( वर्तमान पाकिस्तान) के संघर्ष में पूर्वी पाकिस्तान की सेना “मुक्ति वाहिनी” की मदद की थी। भारतीय सेना के जवानों की बदौलत पूर्वी पाकिस्तान ( वर्तमान बांग्लादेश) ने पाकिस्तान पर विजय प्राप्त की थी और एक नए राष्ट्र के रूप में उभर कर सामने आया।
मौके पर रक्षामन्त्री राजनाथ सिंह ने भारत – पाक युद्ध 1971 में शहीद हुए जवानों की याद में पूरे देश में मनाए जा रहे स्वर्णिम विजय वर्ष के पहचान चिन्ह का अनावरण किया।
वहीं इस मौके पार राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद ने ट्वीट कर लिखा कि…” आज विजय दिवस पर हम सब अपने सैनिकों की वीरता को याद करें जिन्होंने हमारे राष्ट्र के संप्रभुता और गरिमा की रक्षा के लिए अपनी प्रतिबद्धता दिखलाई। 1971 की लड़ाई में उनकी वीरता और धैर्य ने हमें जीत दिलाई थी। ये देश सदा उनकी शहादत का ऋणी रहेगा।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here