मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पटना मेट्रो रेल परियोजना का कार्यारम्भ किया। शिलान्यास के मौके पर बताया गया कि यह प्रोजेक्ट 2024 तक पूरा हो जाएगा। यानी सरकार के दावों की मानें तो 4 साल बाद बिहार की राजधानी पटना में मेट्रो चलने लगेगी। बताया गया कि दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड की ओर से पटना मेट्रो के काम की शुरुआत की जा रही है।

Patna-metro
पहले चरण में आइएसबीटी के लेकर मलाही पकड़ी तक के एलाइमेंट का काम शुरू किया जायेगा। डीएमआरसी ने इस एलाइमेंट के लिए टेंडर के आधार पर कंपनी का चयन कर लिया है। पटना मेट्रो प्राथमिक कॉरिडोर मलाही पकड़ी से आईएसबीटी तक नागार्जुन कंस्ट्रक्शन कंपनी यानी एनसीसी को काम करने का टेंडर मिला है।

सरकार की ओर से बताया गया कि आइएसबीटी के लेकर मलाही पकड़ी तक कॉरिडोर करीब 6.1 किलोमीटर का होगा। इस प्रोजेक्ट पर करीब 553 करोड़ रुपये खर्च होंगे। इस दौरान करीब 5 स्टेशन होंगे। इसके अलावा डिपो से जोड़ने वाला एलिवेटेड स्ट्रक्चर बनाया जाना है।

मेट्रो का दूसरा कॉरिडोर करीब 14.5 किलोमीटर का होगा। हनुमान नगर के पास बाइपास के उस पार खेमनीचक में दोनों कॉरिडोर का इंटर चेंज स्टेशन बनना है।

मेट्रो के अलावा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के तहत 2814.47 करोड़ की लागत से बिहार में 77 परियोजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन किया।

प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन
कॉरिडोर 1ए: दानापुर कैंट, शताबदी स्मार्क, आरपीएस मोड़, आईएएस कॉलोनी, रुकनपुरा, राजाबाजार, जेडी वुमंस कॉलेज, राजभवन, सेक्रेटेरिएट, हाईकोर्ट, इनकम टैक्स सर्किल, पटना रेलवे स्टेशन, चाणक्य लॉ यूनिवर्सिटी, मीठापुर और बायपास चौक

कॉरिडोर 1बी: दीघा, दीघा घाट, आईआईटी, नया पाटलिपुत्र कॉलोनी और शिवपुरी

कॉरिडोर 2: डाक बंगला, गांधी मैदान, कारगिल चैक, पीएमसीएच, पटना यूनिवर्सिटी, प्रेमचंद्र रंगशाला, दिनकर चौक, राजेंद्र नगर, नालंदा मेडिकल कॉलेज, कुम्हरार पार्क, महात्मा गांधी सेतु, जीरो मिल और आईएसबीटी।

source – NV Times

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here