पटना :  कुछ दिनों से नीतीश कुमार और बीजेपी की खटपट फिर सामने आने लगी है । अरुणाचल प्रदेश के 6 विधायक जो जदयू के थे वो अब बीजेपी में शामिल हो गए हैं । इस घटना के बाद से दोनों पार्टियों में दूरी फिर से बढ़ने लगी है । इसी क्रम में सीएम नीतीश कुमार ने जदयू के राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के बाद बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने आज ( 27 दिसंबर) को कहा है कि मुझे अब नहीं रहना सीएम। एनडीए गठबंधन जिसे चाहे बना दें सीएम। मुझे किसी पद का मोह नहीं है। नीतीश कुमार के इस बयान ने बिहार की राजनीति में हलचल मचा दी है।

जदयू ने कहा, बीजेपी ने अच्‍छा नहीं किया
बता दें कि पटना में जदयू की दो दिवसीय राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। आज बैठक का दूसरा और अंतिम दिन था। इसके बाद जदयू के प्रधान महासचिव केसी त्‍यागी ने आज रविवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर कहा कि जदयू ने अरूणाचल प्रदेश की घटना पर क्षोभ व्‍यक्‍त किया है। जदयू के छह विधायकों को भाजपा ने मंत्रिमंडल में शामिल करने की बजाय उन्‍हें अपने दल में ही शामिल कर लिया है। यह अच्‍छा नहीं किया । हमें इसपर बेहद दुख है। यह गठबंधन की राजनीति के लिए अच्‍छा संकेत नहीं है।
माना जा रहा है कि नीतीश कुमार अरूणाचल प्रदेश की घटना से बेहद दुखी हैं। उनका यह ताजा बयान इसी घटना से जोड़कर देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here