#पहलेजा_सबलपुर_समेत_सारण_की_3212_एकर_क्षेत्र पटना जिले_में_शामिल_होने_को_अधिकारियों_की मंजूरी

राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के पत्र के आलोक में सारण जिले के सोनपुर अंचल के सीओ, संबंधित गांव के राजस्व कर्मचारी, भूमि सुधार उप समाहर्ता, अपर समाहर्ता व समाहर्ता ने अंतरजिला भू-हस्तानांतरण की सहमति दे दी है.

अब इस पर इसके लिए बनी कमेटी की अंतिम मुहर लगनी बाकी है. राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के माध्यम से इस संबंध में पटना प्रमंडल के आयुक्त की अध्यक्षता में एक कमेटी बनायी गयी है, जो सारण, वैशाली व बेगूसराय के कुछ क्षेत्रों को पटना जिले में स्थानांतरित करने की प्रक्रिया में लगी है.

सारण जिले की जिस भूमि को पटना जिले को देना है, उसमें सोनपुर अंचल के मौजा 169, 170 सबलपुर पहलेजा 168 चादर दो व पहलेजा 168 चादर तीन की टोपो लैंड जमीन बतायी जा रही है. पहलेजा गांव की जो जमीन प्रशासन ले रहा है, उसकी चौहदी उत्तर में सबलपुर का अंश, दक्षिण में पटना जिला, पूरब में वैशाली जिला व पश्चिम में पहलेजा होगा.।गांव की जो जमीन पटना जिले को स्थानांतरित हो रही है, उसमें एक भाग में पहलेजा अंश उत्तर में, पटना जिला दक्षिण में, सबलपुर पूरब में और पहलेजा चादर तीन पश्चिम में है.

इसी प्रकार पहलेजा चादर तीन की जाे जमीन ली जा रही है, उसमें उत्तर में पहलेजा गांव का अंश, दक्षिण में पटना जिला, पूरब में पहलेजा और पश्चिम में दीघा-पटना शामिल होगा. राजस्व विभाग के निर्णय के आलोक में सारण जिले की 3212 एकड़ जमीन, जो पटना जिले को स्थानांतरित हो रही है, उसमें नदी के उत्तर सोनपुर की ओर स्थित टोपो लैंड जमीन के अलावा जयप्रकाश सेतु, कंगन घाट चिमनी घाट की सभी जमीन शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here