आरा – न्यायमूर्ति शैलेंद्र कु० सिंह, जिला जज भोजपुर ने अपने पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के दौरान आज व्यवहार न्यायालय जगदीशपुर पहुंचे जहाँ उनका बाबू वीर कुँवर सिंह के जन्म स्थली जगदीशपुर में भव्य स्वागत किया गया उनके साथ व्यवहार न्यायालय जगदीशपुर के सब जज -1 न्यायधीश मिथिलेश कुमार वो सब जज-2 न्यायाधीश नीरज किशोर सिंह मौजूद थे।
उक्त अवसर पर न्यायमूर्ति शैलेंद्र कुमार सिंह ने न्यायालय के कार्यो को देखा और व्यवहार न्यायालय के अधिवक्ताओ से अधिवक्ता परिसर में जाकर मिले और न्यायालय संबधि कार्यो के संबंध में भी जानकारी प्राप्त कर शीध्र दूर करने की अश्वसन दिया।
श्री सिंह ने प्रस्तावित नव निर्माण व्यवहार न्यायालय के लिए चयनित भूमी वो नूतन भवन स्थल का भी दौरा किया तथा जल्द से जल्द व्यवहार न्यायालय के नूतन भवन के निर्माण कार्य शुरु कराये जाने का भी संकेत दिए।उन्होंने आगे बताया की अधिवक्ता और बेंच के बीच अच्छी माहौल पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि अधिवक्ता का भारतीय लोकतंत्र में कतई अनदेखी नहीं कोई कर सकता उनकी आजादी की लड़ाई में भी महत्त्वपूर्ण भूमिका रही है ।
श्री सिंह ने कहा कि वकालत एक पेशा ही नहीं है बल्कि सामाजिक सौहार्द को बनाये रखने के बीच कि मजबूत कड़ी भी है।
अधिवक्ताओ ने आठ माह से मुंसिफ कोर्ट खाली होने के तथ्यों से भी अवगत कराया। इस अवसर पर जगदीशपुर एस डी ओ ,सीमा कुमारी .वो अन्य न्यायालय कार्यो से जुड़े अधिकारी भी उपस्थित थे। अधिवक्ता संध के अध्यक्ष सुरेंद्र यादव, सचिव योगेंद्र कुमार सिंह, धरमेश कु सिंह, जयकांत दूबे, विनोद वर्मा, मनीष कुमार, वृदाननद सिंह, पंकज द्विवेदी, मंटू केशरी, तैयब हुसैन, चंद्रभूषण सहाय, मारकंडय सिंह, मनोज कुमार सिंह, विजय राम सहित अन्य अधिवक्ता गण मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here